S
सत्यवती महाविद्यालय 
सत्यवती महाविद्यालय (शाम का सत्र) 
स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग ( पत्राचार के पूर्ववर्ती स्कूल & वयस्क शिक्षा) 
पुनर्वास विज्ञान स्कूल 
शहीद भगत सिंह कॉलेज 
शहीद भगत सिंह कॉलेज (शाम का सत्र) 
शहीद राजगुरु कॉलेज ऑफ एप्लाइड साइंसेज फॉर वुमेन 
शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज 
शिवाजी कॉलेज 
श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स 
श्याम लाल कॉलेज 
श्याम लाल कॉलेज (शाम का सत्र) 
श्यामा प्रसाद मुखर्जी कॉलेज फॉर विमेन 
श्री अरबिंदो कॉलेज 
श्री अरबिंदो कॉलेज (शाम का सत्र) 
श्री गुरु गोबिंद सिंह कॉलेज ऑफ कॉमर्स 
श्री गुरु नानक देव खालसा कॉलेज 
श्री गुरु तेग बहादुर खालसा कॉलेज 
श्री वेंकटेश्वर कॉलेज 
सेंट स्टीफन कॉलेज 
स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज 
अनुप्रयुक्त सामाजिक विज्ञान और मानविकी संकाय
वाणिज्य संकाय और बिजनेस स्टडीज
शिक्षा विभाग
विधि संकाय
प्रबंधन अध्ययन के संकाय

विज्ञान संकाय

प्रौद्योगिकी संकाय
दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स

दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स 

स्वतंत्रता के तुरंत बाद, प्रोफेसर वी. के. आर. वी. राव के नेतृत्व और प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के समर्थन से दूरदर्शी व्यक्तियों के एक समूह ने सामाजिक विज्ञान में, विश्व में सर्वश्रेष्ठ स्तर का और एक स्वतंत्र उपमहाद्वीप के योग्य उन्नत शिक्षण और शोध  का एक केंद्र बनाने का निश्चय किया। इस प्रकार 1948 में दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स ट्रस्ट के केंद्र के रूप में इसकी परिकल्पना की गई और जवाहरलाल नेहरू इसके पहले अध्यक्ष बने और 1949 में, दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स का वास्तविक कामकाज शुरू हुआ। यह केंद्र आज तक भी अर्थशास्त्र, भूगोल और समाजशास्त्र में उन्नत प्रशिक्षण और शोध  के लिए दक्षिण एशिया का अग्रणी केंद्र बना हुआ है।


इसके निर्माण का प्रारंभिक आवेग भारत और अन्य नए स्वतंत्र विकासशील देशों में योजना और नीति-निर्माण की चुनौतियों से उभरा था और स्कूल की शैक्षणिक गतिविधियों ने शीघ्र ही एक विस्तृत फलक को समेट लिया। 1950 के दशक से अर्थशास्त्र विभाग के कार्यक्रम के भाग के रूप में वाणिज्य, व्यवसाय प्रबंधन, अर्थशास्त्र, सांख्यिकी और आर्थिक प्रशासन के पाठ्यक्रम आयोजित किए गए थे। भूगोल और समाजशास्त्र विभाग 1959 में स्थापित हुआ था। पुनर्गठन यहाँ एक सतत प्रक्रिया रही है। प्रबंधन अध्ययन ने, 1967 में प्रोफेसर ए. दासगुप्ता के नेतृत्व में एक स्वतंत्र संकाय का दर्जा प्राप्त किया। उसी वर्ष वाणिज्य एक पूर्ण विभाग बना और 1993 से एक अलग संकाय बना। वर्तमान में, इस स्कूल में अर्थशास्त्र, भूगोल और समाजशास्त्र विभाग शामिल हैं जो दिल्ली विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संकाय के अंग हैं। अर्थशास्त्र और समाजशास्त्र विभाग में उन्नत अध्ययन के केंद्र भी हैं, अपने संबंधित विषयों के सबसे पहले विभागों में शामिल होने के कारण इन्हें विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त है। तीनों विभागों के शिक्षण और शोध, बदलती सामाजिक और अनुशासनात्मक चिंताओं को प्रतिबिंबित करने के लिए विगत वर्षों में विकसित हुए हैं।

Prof. Pami Dua
Director
Delhi School of Economics


Contact No. : 011-27667540
E-mail : director@econdse.org

Last Updated: Monday 25-Oct-21 14:53:52 IST
Spotlight
Can't find what you're looking for?
Try our extensive database of FAQs or check our knowledgebase to know more...
दिल्ली विश्वविद्यालय के बारे में अधिक जानना चाहते हैं?

अपनी मजबूत रोमांचक यात्रा शुरू करने के लिए तैयार हैं?

शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए पंजीकरण प्रक्रिया अब बंद है
डीयू मैप
दिल्ली विश्वविद्यालय
नॉर्थ कैंपस, दिल्ली - 110007
बेनिटो जुआरेज़ मार्ग, साउथ कैंपस,
दक्षिण मोती बाग, नई दिल्ली, दिल्ली - 110021